कंप्यूटर सीखें Part -2 | Computer Courses In Hindi

0
95
views

Computer Courses In Hindi दोस्तों आज कंप्यूटर सिखने का Part – 2 है। आपको Computer की विशेषताएं बताएँगे। 

 Computer Courses In Hindi


DOWNLOAD NOW PDF


1. स्पीड (Speed)

सबसे पहले Computer को बहुत स्पीड वाले कैलकुलेटर्ज भी कहा जाने लगा तथा इससे

भी कई बड़े-बड़े विज्ञानिक प्रोजेक्टस (Scientific Projects) को पूरा करने में बहुत सहायता मिली,

जो कि उससे पहले संभव नहीं था। जैसे कि “Meteorgical Data” को Forecast करना।

यह स्पीड धीरे-धीरे बढ़ती गई तथा आज कंप्यूटर की गति इतनी बढ़ गई है कि वह 1 सेकंड में कई मिलियन इंस्ट्रक्शन(Instructions) को पूरा कर सकता है।

2. यथार्थकता (Accuracy)

Computer की यह भी बहुत बडी आवश्यकता है कि जो भी कार्य वह कर रहा है

वह बिल्कुल सही (Accuracy) हो तथा यह इस के डिजाइन पर भी निर्भर करता है।

कुछ गलतियां तो कंप्यूटर में हो जाती है परंतु ऐसा ना हो कि वह अपने उद्देश्य से बिल्कुल दूर ही हो जाए।

इसलिए कंप्यूटर में बहुत अधिक एकुरेशी (Accuracy) होनी चाहिए।

3. उधम करने की शक्ति (Diligence)

क्योंकि Computer एक मशीन है, इसलिए यह निरंतर कार्य कर सकती है। इसके

विपरीत यदि मनुष्य कार्य करता है तो वह थकावट भी महसूस करने लग पड़ता है।

परंतु कंप्यूटर की एकसारता पर कोई अंतर नहीं पड़ता तथा भिन्न – भिन्न

इंस्ट्रक्शन (Instructions) से कार्य करवाने में उतना ही समय लगता है इसलिए यह बहुत ही परिश्रमी (Diligent) हैं।

 Computer courses in hindi 

 4. प्रतिभा (Versatility)

Computer में प्राय: सभी कार्य करने की शक्ति विद्यमान होती है। तथा यह

लॉजीकल (Logical) कार्य भी भली-भांति कर सकते हैं। एक – एक ही समय में

ऑटोमेटिक फोन बिल, बिजली के बिल आदि तैयार कर सकते हैं। एक कंप्यूटर में

भिन्न-भिन्न प्रोग्राम (Program) चुनने की शक्ति होनी चाहिए, जो आवश्यक कार्य कर सकें

5. स्टोरेज (Storage)

 क्योंकि Computer की गति बहुत अधिक होती है तथा जो कार्य वह कर रहा है,

उसे स्टोर करने की शक्ति की आवश्यकता है। इसलिए कोशिश की जाती है

कि मेमोरी में स्टोर शक्ति (Storage) बढ़ाई जाए तथा स्टोर करने के अन्य साधन

भी ढूंढे जाएं ताकि स्टोर डाटा को भविष्य में प्रयुक्त किया जा सके।

6. ऑटोमेटिक (Automatic)

कंप्यूटर को सभी इंस्ट्रक्शन (Instructions) इकटठी ही दी जाती है तथा यह उन

इंस्ट्रक्शन (Instructions) को स्वंय ही Execute करता रहता है, जब तक वह इंस्ट्रक्शन पूरी ना हो जाए। 

ये भी पढ़े 

  1. आज कंप्यूटर का युग है | Computer Ki Upyogita
  2. Gmail और Email में क्या अंतर है
  3. What is email in Hindi-Email Id क्या
  4. रेलवे एग्जाम सैंपल पेपर
  5. अपने स्मार्ट फ़ोन को बनाये अधिक सुरक्षित

दोस्तों आपको कंप्यूटर सीखें Part – 2  ये पोस्ट कैसी लगी।  हमें comment करके अपने विचार दे। हमें बहुत ख़ुशी होगी।

इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ Share ज़रूर करें। जैसे की Facebook, Twitter, linkdin और Pinterest इत्यादि। 

आपके पास कोई लेख है तो आप हमें Send कर सकते है। हमारी id: helpbookk@gmail.com

Right, Side में जो Bell Show हो रही है उसे Subscribe कर ले। ताकि आप को समय समय पर Update मिलता रहे।

Thanks For Reading

 

Summary
Review Date
Reviewed Item
Computer
Author Rating
41star1star1star1stargray

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here