सरकार ने विदाई बजट में खोला सुविधाओं का पिटारा-Bajat Me Suvidhayo

2
131
views

सरकार ने विदाई बजट में खोला सुविधाओं का पिटारा   

सरकार ने विदाई बजट में खोला सुविधाओं का पिटारा-Bajat Me Suvidhayo



दोस्तों आज की हमारी पोस्ट है 2019 – 20 में हुआ बजट में बहुत बड़ा बदलाब अब गरीब लोगों को मिलेंगी अच्छी सुविधाएं। [ Bajat 2019-20 Me Sarkar Ne Khola Suvidhayo Ka Pitara ]

जेसी की उम्मीदें थी बजट में नरेंद्र मोदी सरकार से नाराज चल रहे वर्ग पर सुविधाओं की वर्षा करते हुए कार्य वाहक वित्त मंत्री श्री पीयूष गोयल ने 2019-20 का अंतरिम बजट शुक्रवार को पेश किया।


पहली बार बजट पेश करते हुए उन्होंने कहा कि “यह अंतरिम बजट नहीं विकास यात्रा का माध्यम है।” उन्होंने दावा किया है।

कि “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जहां देश को भ्रष्टाचार मुक्त, साफ और मजबूत सरकार दी वहीं इस अवधि में दुनिया ने भारत की ताकत को पहचानना है।”


श्री गोयल के अनुसार “सरकार ने कमर तोड़ महंगाई की कमर तोड़ दी है और महंगाई कम करके सरकार का घाटा कम किया है। इस समय महंगाई 10% से घटकर 4% के निम्नतम स्तर पर है।”


उन्होंने कहा कि भारत विश्व में सबसे तेज बढ़ने वाली और विश्व की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है। सरकार ने अपने कार्यकाल के दौरान अनेक जनकल्याणकारी योजनाएं शुरू की ताकि किसी को भूखे पेट ना पड़े।


2022 तक नया भारत बनाने और हर बेघर को घर देने का वादा करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार ने टैक्स सुधरों में बड़े बदलाव किए हैं और जी.एस.टी. सबसे क्रांतिकारी कदम है।


गांवो में भी शहरो जैसी सुविधाएं देने का दावा करते हुए उन्होंने कहा, “अगले 5 वर्षों में देश में एक लाख डिजिटल गांव बनाए जाएंगे।सरकार ने जो कहा वह किया और 2014 से 2018 के दौरान एक करोड 53 लाख मकान बनाए।”

Bajat 2019-20 Me Sarkar Ne Khola Suvidhayo Ka Pitara


“1.43 करोड एल.ई.डी. बल्ब बांटे, देश में रोज 27 किलोमीटर हाईवे बन रहे हैं, 14 एम्स निर्माणाधीन है तथा दुनिया की सबसे बड़ी आयुष्मान हेल्थ केयर योजना के अंतर्गत 5 वर्षों में 10 लाख लोगों का इलाज किया गया।”


‘जय किसान’ नारे के बीच उन्होंने कहा कि पिछले 5 वर्षों में किसानों की आय में दोगुनी वृद्धि हुई है, 22 फसलों की एम.एस.पी. में 50% से अधिक की वृद्धि की गई है तथा स्वच्छ भारत अभियान से 98 प्रतिशत गांव स्वच्छ हुए हैं।


ब्रॉडगेज पर सभी मानवरहित फाटक समाप्त कर दिए गए हैं और वित्त वर्ष रेलवे के लिए सर्वाधिक सुरक्षित वर्ष रहा है। पहली बार ‘वंदे मातरम सेमी हाई स्पीड रेलगाड़ी’ भारत में बनी जिसमें सभी सुविधाएं दी गई हैं।


चूंकि देश में इसी वर्ष मई से पहले लोकसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में सरकार ने इस बजट में आने वाले समय के लिए गांव, गरीब, किसानो, मजदूरों और मध्यम वर्ग के लिए सुविधाओं का पिटारा खोला है।


आयकर छूट 2.5 लाख रुपए से बढ़ाकर 5 लाख रुपए की गई तथा ग्रैच्यूंटी की सीमा 10 लाख से बढ़ाकर 20 लाख की गई है।
  • स्टैंडर्ड डिडक्शन ₹40000 से बढ़ाकर ₹50000 की गई है।
  • टी.डी.एस. के लिए ब्याज से अर्जित आय की सीमा बढ़ाकर ₹40000 की की गई है यह छूट पहले ₹10000 थी।
  • ई.पी.एफ.ओ. की बीमा राशि 2.5 लाख रुपए से बढ़ाकर 6 लाख। 
  • 21000 वेतन वाले लोगों को ₹7000 तक बोनस मिलेगा।
  • वेतन आयोग की सिफारिशें लागू की जाएगी।
  • किसान सम्मान निधि के अंतर्गत 2 हेक्टेयर से कम जमीन वाले किसानों को ₹6000 वार्षिक सहायता देने का प्रस्ताव है। इससे दो दो हजार की तीन किस्तों में दिया जाएगा, इसे 12 करोड किसानों को लाभ पहुंचेगा तथा पहली किस्त दिसंबर 2018 से देय होगी।
  • पशुपालन और मत्स्य पालन के लिए ऋण में 2% छूट दी जाएगी।
  • आपदा पीड़ित किसानों को ब्याज दर में 5% छूट और समय पर कर्ज़ चुकाने पर 3% अतिरिक्त छूट दी जाएगी 
  • रक्षा बजट पहली बार 3 लाख करोड रुपए से बढ़ा दिया गया है।
  • असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए 60 वर्ष आयु के बाद हर महीने ₹3000 पेंशन का प्रावधान। इससे 10 करोड़ मजदूरों को लाभ पहुंचेगा।
  • गो सरक्षण के लिए राष्ट्रीय कामधेनु योजना शुरू की जाएगी।

Bajat 2019-20 Me Sarkar Ne Khola Suvidhayo Ka Pitara

‘नियत साफ है, नीति स्पष्ट और निष्ठा अटल है’ कह कर समाप्त किए अपने भाषण में श्री गोयल ने आशा के अनुरूप उन सभी वर्गों को कुछ न कुछ देने की कोशिश की है जो सरकार से नाराज चल रहे थे।


जहां सत्ता पक्ष, व्यापार जगत और नौकरी पेशा ने इस बजट को विकसोन्मुखी बताया है।  वही विरोधी दलों ने इसे जुल्मो से भरपूर और अव्यावहारिक करार दिया है।


कांग्रेस के अनुसार, “प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के अंतर्गत किसानों को प्रतिदिन 17 रुपए देना किसानों का अपमान है।”


माकपा ने कहा कि “किसानों को 500 रुपए मासिक देने की घोषणा से पता चलता है कि गांव और किसानों के, सरकार द्वारा पैदा किए गए संकट से स्वयं सरकार किस कदर अपरिचित है।”


भाजपा ने कहा है कि “यह बजट जुल्मो से भरपूर ओर जमीनी हकीकत से दूर है।” आपके अनुसार, “किसानों सहित सभी वर्गों से कर रही मोदी सरकार ने किसानों को ₹500 मासिक देने की घोषणा करके उनकी बदहाली का अपमान किया है।”


रेटिंग एजेंसी मूडीज ने इस  अंतरिम बजट को साख की दृष्टि से नकारात्मक बताया और कहा है कि “अंतरिम बजट राजस्व बढ़ाने के बारे में नई नीतियों का अभाव है।”

ये पोस्ट भी पढ़े

    1.  Mcent से पैसे कैसे कमाये
    2. पाचन शक्ति बढ़ाये हिंदी में
    3. अपने स्मार्ट फ़ोन को बनाये अधिक सुरक्षित
    4. कैसे जानें आपना आधार कार्ड कहाँ कहाँ लिंक या यूज़ किया गया है
    5. Apprenticeship Ka Registration Free Me Kaise Kare I.T.I. Pass

          Final Word

          दोस्तों आज की पोस्ट सरकार ने विदाई बजट में खोला सुविधाओं का पिटारा यह पोस्ट कैसी लगी आपको। अपने विचार Comment Box में ज़रूर दे।

          Thanks For Reading
          Previous articleKaise Badhye Pachan Shakti
          Next articleHBSE 12 Class Biology Paper 2019
          हमारे Blog बनाने का मकसद है की आप तक हर तरह की जानकारी पहुंचा सकें इसलिए हमने अपने ब्लॉग का नाम helpbookk रखा है। Internet एक ऐसा माध्यम है जिसके द्वारा हर जानकारी प्राप्त कि जा सकती है हमारी हमेशा यही कोशिश रहेगी की आपको सभी जानकारी हेल्पफुल और हिंदी में उपलब्ध करवाई जाए जिससे आपको अधिक से अधिक लाभ मिल सके। अधिक जानकारी के लिए यहाँ दवाएं हमसे सपर्क करें : helpbookk@gmail.com
          SHARE

          2 COMMENTS

          LEAVE A REPLY

          Please enter your comment!
          Please enter your name here